श्रधांजलि शायरी | Shradhanjali Sms | Lines

जब कोई दुनिया से जाता है तो दुख होता है उस दुख को बयां करने के लिए वैसे तो सभी शब्द कम पड़ जाते हैं लेकिन हमें अपनी सवेदना और दुख उस मृतक के परिवार वालों के साथ साँझा करना होता है जिसे आप नीचे दी गयी लाइन्स में साँझा कर सकते हैं।



Shradhanjali Shayari | Sms | lines 


जीवन की यह एक सच्ची कहानी हैं,

मृत्यु एक दिन सबको आनी हैं

हम भगवान से प्रार्थना करते हैं कि

उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें


मुझे खबर मिली थोड़ी देर हो गयी

जब से सुना है आँसू रुक नहीं रहे

भगवान उनकी आत्मा को शांति दे और

आपके परिवार को शक्ति और साहस दे


मृत्यु सत्य है और शरीर नश्वर हैं,

यह जानते हुए भी अपनों के जाने का दुःख होता हैं.

हमें ईश्वर से प्रार्थना करनी चाहिए कि

दिवंगत आत्मा को शांति और मोक्ष प्रदान करें


उनके निधन से गहरा दुःख हुआ.

यह हम सभी के लिए एक अपूरणीय क्षति हैं.

ईश्वर दिवंगत आत्मा को शन्ति दे और

परिजनों को संबल प्रदान करें


जाने वाले कभी नहीं आते

जाने वालों की याद आती है

भगवान उनकी आत्मा को

मोक्ष प्रदान करे


जब अपने चले जाते हैं तो दुःख होता है

मगर सच यह भी है कि शरीर नशवर है

हमें यही दुआ करनी चाहिए कि

जो जीव - आत्मा आज हमारे बीच नहीं है

प्रभु उसे मोक्ष प्रदान करें


अच्छे लोग दिलों में इस तरह उतर जाते हैं,

कि मरने के बाद भी अमर हो जाते हैं

वो हमारे दिल में हमेशा ज़िंदा रहेंगे


यह संसार प्रकृति के नियमों के अधीन हैं

और परिवर्तन एक नियम है

शरीर तो मात्र एक साधन है

इस दुःख की घडी में हम सब आपके साथ हैं


उनकी मृत्यु का दुःख जरूर है

पर आप अकेले नहीं हैं।

हिम्मत और हम आपके साथ हैं।


भगवान अच्छे लोगों को जल्दी बुला लेता है

शायद इस लिए वो भी वक़्त से पहले चले गए

भगवान उनकी आत्मा को शांति दे 

और अपने चरणों में स्थान प्रदान करे


इस घटना के बारे में जानना हमारे लिए बेहद दुखी है,

भगवान् आपको साहस प्रदान करे


हम आपके हालिया नुकसान के बारे में बहुत दुखी हैं और,

आप और आपके परिवार के लिए

हम ईमानदारी से संवेदना व्यक्त करना चाहते हैं।


एक पिता अपनी मौत से कभी नहीं डरता

वो सिर्फ इस बात से डरता है के

मेरे जाने के बाद मेरे बच्चों का क्या होगा

तुम अपने आप को संभालो ताकि

आपके पिता की आत्मा दुखी ना हो


किस्मत ने कैसा खेल रचाया है

जिसे में चाहता था उसे भगवान ने

अपने पास बुलाया है

दुखद शायरी


अच्छे लोगों को भगवान् सचमुच अपने पास ही रखना चाहते हैं

ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति और

आपको धैर्य प्रदान करें

हमारी संवेदनाएं आप सभी के साथ हैं


जीवन शाश्वत है, और प्रेम अमर है

और मृत्यु केवल एक सीमा है,

और एक सीमा कुछ भी नहीं है,

बस हमारी दृष्टि की सीमा है…!


जब हम अपने जीवन में इस तरह के एक विशेष व्यक्ति को खो देते हैं,

समय रुकता प्रतीत होता है हालांकि,

यह महत्वपूर्ण है कि हम आपके चेहरे पर एक मुस्कान से शुरू करें,

ताकि हम उसकी आत्मा को खुश कर सकें,

जैसे ही हम नहीं कर सकते….!


भावभीनी श्रधांजलि 


हम आपके और आपके परिवार के लिए प्रार्थना करेंगे।

भगवान जो करता है उसके पीछे कुछ न कुछ छिपा होता है,

हो सकता है कि इस बार उसने आपकी माँ के लिए फैसला किया हो,

ताकि वह आराम कर सके,

भगवन आपकी माताजी की आत्मा को शांति दें…!

भावभीनी श्रद्धांजलि


वक्त के साथ जख्म तो भर जायेंगे,

मगर जो बिछड़े सफर जिन्दगी में

फिर ना कभी लौट कर आयेंगे.

भावभीनी श्रद्धांजलि


अंकलजी के जाने का दुःख जितना आपको है

उतना शायद ही किसी को हो

पर दुःख की इस घड़ी में

आप अकेले बिल्कुल नहीं हैं

हम सब आपके साथ हैं !


भगवान को भी उन्हें ही बुलाना था

शायद भगवान को हमें दुख पहुचाना था

और उनको आराम करने के लिए पास ले जाना था! 😢


चले गए वो सब को छोड़ कर

हम सब देखते रहे कुछ कर ना पाए

शायद भगवान को था यही मंजूर

हमारी प्रार्थना है उनकी आत्मा को शांति मिल जाये


हमारे दिल में बसते थे जो

एक एक कर जाने लगे है

हम हो गए हैं जवान जब से

हमारे बुज़ुर्गों को भगवान ले जाने लगे हैं! दुखद😢


अच्छे लोगों को भगवान अपने पास रखना चाहता होगा

शायद इस लिए वो उन्हें जल्दी ले जाता होगा!

भगवान उनकी आत्मा को मोक्ष प्रदान करें


अच्छे लोग दिल में बस जाते हैं

ज़िन्दगी भर दिल से ना जाते हैं

भगवान ले जाता है उनकी ज़िंदगी पर

वो हमारे लिए अमर हो जाते हैं


कुछ दिन पहले मिले थे

बहुत खुश नजर आ रहे थे

अचानक छोड़ कर चले गए

और हम रोते रह गए जब जा रहे थे


ज़िन्दगी की यही सत्य कहानी है

आखिर ज़िन्दगी एक दिन जानी है


ज़िन्दगी में यह तो होना है

एक दिन सब ने हमारे लिए रोना है


कुछ ऐसे छोड़ कर गया वो

हँसतें चेहरे मुरझा गए

सब दिल तोड़ कर गया वो


जीवन की यह एक सच्ची कहानी हैं,

मृत्यु एक दिन सबको आनी हैं।

Post a comment

0 Comments